Feb 11th 2019, 2:17 am
मुझसे हर बार नज़रें चुरा लेती है वो,
मैंने कागज़ पर भी बना कर देखी हैं.
आँखें उसकी
Feb 11th 2019, 2:12 am
कभी-कभी हाथ छुड़ाने की ज़रूरत नहीं होती.
कुछ लोग तो साथ रह कर भी बिछड़ जाते हैं.
Feb 11th 2019, 1:59 am
रुखसत ऐ यार का मंज़र भी किया मंज़र था.
यारो हमने खुद को खुद से बिछड़ते हुए देखा.
Feb 11th 2019, 1:55 am
तुम दोस्ती को मोहब्बत में
बदलना चाहते थे.
देखा इस मोहब्बत ने
हमें दूर कर दिया.
Feb 11th 2019, 1:37 am
वफ़ा सबको मिली दुनिया में हमारे सिवा,
हमें जब भी प्यार हुआ बेकदरों से हुआ
Feb 11th 2019, 1:27 am
कितना भी खुश रहने की कोशिश कर लो,
जब कोई याद आता है तो बहुत रुलाता है।
Feb 11th 2019, 1:20 am
देख कर भी करना
मुझे नज़रअन्दाज़ तेरा.
एक दिन तबाह कर देगा
मुझे ये अंदाज़ तेरा.
Feb 10th 2019, 11:59 pm
मिल जायेगा हमें भी कोई
टूट के चाहने वाला.
अब शहर का शहर तो
बेवफा नहीं हो सकता.
Feb 10th 2019, 11:53 pm
हमने सोचा था की बताएँगे
सब दुःख दर्द तुमको,
पर तुमने तो इतना भी ना पूछा
की खामोश क्यूँ हो.
Feb 10th 2019, 11:47 pm
जो मिलते हैं
वो बिछड़ते भी हैं
हम नादान थे,
एक शाम की मुलाकात को
इश्क़ समझ बैठे.
Feb 10th 2019, 11:35 pm
दिल की उम्मीदों का
हौंसला तो देखो.
इंतजार उसका जिस को
अहसास तक नहीं
Feb 10th 2019, 11:29 pm
लिख चुका हूँ मैं
तेरे लिए एहसास बहुत सारे,
फिर भी जितना तुझे चाहा
कभी लिख नहीं पाया
Feb 10th 2019, 11:24 pm
हम तो बेवजह ही करते रहे
रौशनी की तलाश.
रात दिये के सहारे
कट सकती थी मालूम ना था
Feb 10th 2019, 11:18 pm
खुद ही रोये और रो कर चुप हो गए,
ये सोचकर कि आज कोई अपना होता
तो रोने ना देता
Feb 10th 2019, 11:11 pm
बस सफेद लिबास
औढ़ने की देर है
दोस्तो फिर सारा शहर ढूंडेगा
हमे आँखो मे नमी लेकर.
See More